मण्डी जोगिन्दरनगर हाईवे पर हुआ भीषण लैंड स्लाइड – live blog

0
964

पठानकोट मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुए हादसे में 8 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की गई है जिसमें (सुरुचि ठाकुर-जोगिंदरनगर, नेहा-सरकाघाट, विनोद कुमार-पधर, सुरेश कुमार-तल्याहड़, बाबूराम-उधमपुर, पवन कुमार-मनाली एवं खुब राम-कुल्लू, करतार चन्द-बैजनाथ) की पहचान की गई है।
हादसे में पाच घायलों में से चार लोग {मंजू (20) करसोग, ब्यूटी शर्मा (18) शिमला } मंडी क्षेत्रीय अस्पताल से शिमला रेफर कर दिए गए हैं तथा शुभम (21) शिमला क्षेत्रीय अस्पताल मंडी में उपचाराधीन है।
सुचित्रा (19) शिमला और अनीता (23) जोगिंदर नगर हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

पठानकोट मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुए हादसा स्थल पर पालमपुर से 9 ग्रेडेनियर के जवान तथा इसके साथ ही एनडीआरएफ जवान भी मौके पर पहुंचे है।

मण्डी जिला के उरला के समीप देर रात को भीषण लैंड स्लाइड हुआ है, कोटरूपी में हुए इस दर्दनाक हादसे में लगभग 200 मीटर सड़क पहाड़ से गिरे मलवे में बह गई है। बताया जा रहा है इस हादसे में कुछ वाहन भी मलवे में दब गए हैं, अभी तक जान माल का कितना नुकसान हुआ है उसका पता नहीं चल पाया है।

भूस्खलन की चपेट में आने से निगम की एक बस एक किलोमीटर नीचे पहुंची। बस में सवार सभी यात्रियों की मौत होने का अंदेशा। भूस्खलन से निगम की एक अन्य बस भी चपेट में आई। जबकि आधा दर्जन से अधिक छोटे वाहनों के दबे होने की आशंका। दर्जनों छोटे वाहन भी दबने का अंदेशा। प्रशासन मौके पर रातों रात तैनात, जिला उपायुक्त दलबल सहित मौके पर पहुंचे। रात करीब साढ़े बारह बजे हुआ हादसा। इस हादसे में दर्जनों लोग दबने की आशंका है। एक चार मंजिला मकान भी ढेर।

पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग कोटरोपी (पधर) पर हुए हादसे में 7 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की गई है जिसमें कि 2 लोगों (सुरुचि ठाकुर जोगिंदरनगर, नेहा सरकाघाट) की पहचान की गई है। बाकी पांच लोगों की पहचान अभी नहीं हो पाई हैं।
हादसे में घायलों में पांच लोग मंडी क्षेत्रीय अस्पताल में उपचाराधीन है जिनमें मंजू (20) करसोग, शुभम (21) शिमला, सुचित्रा (19) शिमला ज्योति शर्मा (18) शिमला और अनीता (23) जोगिंदर नगर शामिल है।

परिवहन मंत्री बाली ने कहा की परिवहन निगम की दो बसें भी चपेट में आ गईं। इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना में करीब 50 लोगों के बह जाने की आशंका है। इनमें एक बस चंबा-मनाली और दूसरी मनाली-कटड़ा है।
रात 2 बजे से राहत व बचाव कार्य जारी हैं और मैं खुद लगातार जिला प्रशासन व अन्य संबंधित अधिकारियों के संपर्क में हूं। मामले की गंभीरता को देखते हुए सेना को भी बुलाया गया है।

सेना ने राहत और बचाव कार्य में शुरू कर दिया है, जवान उस जगह की तलाशी कर रहे हैं जहाँ चम्बा मनाली बस के दबे होने का अंदेशा है।

मंडी भूस्खलन: हेल्पलाइन नंबर-

प्रशासन: 01905 226201, 226202, 226203, 226204
HRTC: 01905 235538 और 9418001051

अधिक जानकारी के लिए इस लाइव ब्लॉग पर बने रहें –

घटना की कुछ तस्वीरें –


Comments

comments

SHARE
Previous articleरिवालसर झील
Next articleकोटरूपी भूस्खलन में 15 शव मिले, सैंकड़ों लापता
आप भी "mandinews.in" को लेख, समाचार, कहानी, कविता, जानकारी, विचार, सुझाव और शिकायतों को भेज सकते है। हमें disttmandi@gmail.com पर ईमेल करें, हमें आपके पत्रों का इंतजार रहेगा। कृपया ईमेल के साथ अपना सक्षिप्त परिचय अवश्य जरूर भेजें, फोटो और videos भी इसी ईमेल पर भेजे जा सकते हैं।